X Close
X

संपत्ति व सरकारी नौकरी पाने के लिए पत्नी ने की थी दरोगा की हत्या!


54900-45512c70-3af6
Thane:

बुलन्दशहर। नरसल घाट चौकी में तैनात दरोगा प्रदीप यादव की गोली लगने से मौत हो गई थी। मामले के पहले बीते दिनों दरोगा और उनकी पत्नी के बीच विवाद हुआ था, जिसके बाद वे ड्यूटी पर चले गए थे। अब दरोगा का परिवार पत्नी और उनकी सास पर हत्या का आरोप लग रहा है। इटावा के चैबिया थाना क्षेत्र के गांव गुलाबपुर निवासी उपनिरीक्षक प्रदीप यादव बुलन्दशहर में नरसलघाट पुलिस चौकी इंचार्ज के पद पर तैनात थे। दरोगा प्रदीप यादव की उनके घर में ही सर्विस रिवाल्वर से गोली लगने से मौत हो गई थी। घटना से पहले दरोगा प्रदीप और उनकी पत्नी गुंजन यादव के बीच विवाद हुआ था। दरअसल, रदीप यादव जिस मकान में किरायेदार थे उस मकान मालिक ने बताया कि बीती रात भी प्रदीप यादव का अपनी पत्नी से झगड़ा हुआ था। जिसके बाद प्रदीप की पत्नी ने खुद को कमरे में बंद कर लिया और प्रदीप के बार- बार कहने पर भी घर का गेट नहीं खोला। जिसके बाद प्रदीप वापिस अपनी ड्यूटी पर चले गए और अचानक गोली चलने की आवाज के बाद पता चला कि दरोगा ने खुद को गोली मार ली है। इस घटना के बाद मृतक के भाई अनूप यादव ने रिपोर्ट दर्ज कराया है। उन्होंने कहा है कि पति-पत्नी के बीच काफी समय से विवाद रहता था। प्रदीप की पत्नी गुंजन यादव प्रदीप की पैतृक सम्पत्ति व उसकी जगह सरकारी नौकरी पाने के लिए अपनी मां रीता व मोहित के साथ बीते दिनों घर पहुंची और प्रदीप की सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर हत्या कर दी। एसपी देहात पीके तिवारी ने बताया कि मृतक के भाई की तहरीर पर रिर्पोट दर्ज कर ली गयी है। घटनास्थल से फॉरेंसिक विभाग की टीम ने फुट व फिंगर प्रिंट आदि लिए हैं। मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी। इटावा के दरोगा की हत्या के आरोप में पृलिस ने मृतक दरोगा की पत्नी व सास सहित 3 के विरूद्ध गोली मारकर हत्या का मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर कार्रवाई करने का दावा कर रही है।